महाराणा प्रताप जयंती विशेष





महाराणा प्रताप

प्रीति शर्मा "असीम"

वीर भूमि राजस्थान का,
वह वीर प्रताप राणा था ।
जिसके साहस से कांप गया।
अकबर ने लोहा माना था ।

7 फुट के वीर का ,
72 किलो का भाला था ।
200 किलो का कवच पहनकर।
चेतक पर चलता,
आजादी का वीर मतवाला था।

वीर भूमि राजस्थान का ,
वह वीर प्रताप राणा था ।

विधर्मी बनाना ना स्वीकार किया ।
40000 की सेना से ,
अकबर की,
सवा लाख सेना को मारा था ।

हर बार अकबर को हार दी,
देशभक्ति का ,
प्रताप जगत ने माना था ।

धन्य वीरभूमि राजस्थान की।
महाराणा प्रताप वीर महान की।
युग -युग गाएगा गाथा विश्व ।
आत्मसम्मान के महाप्राण की।


प्रीति शर्मा "असीम"
नालागढ़ हिमाचल प्रदेश

Post a Comment

0 Comments

कुछ तो हो