हरियाणा सरकार ने कोविड-19 संघर्ष सेनानी https://covidssharyana.in पोर्टल लॉन्च किया।




चंडीगढ़, 1 अप्रैल- राज्य के नागरिकों की भलाई, सुरक्षा और स्वास्थ्य हरियाणा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है और इसके लिए, सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। कोविड-19 कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे और चुनौति का सामना करने के लिए तैयार है।

        सरकार ने किसी भी इच्छुक दुकान या स्टोर के मालिक (किरयाणा/ सब्जी / दूध / कैमिस्ट आदि) , जो आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति का इच्छुक हैं ,उनके लिए कोविड-19 संघर्ष सेनानी (https://covidssharyana.in) पोर्टल लॉन्च किया है। कोई भी नागरिक , जो  कोरोनावायरस से लडऩे के लिए अपना योगदान देना चाहता है तो वह वेबसाइट पर पुस्तिका से अपना योगदान देने की प्रकिर्या समझ सकता है।

        वेबसाइट पर नागरिक आवश्यक वस्तुओं को प्रदान करने के लिए या स्वयंसेवकों के रूप में, डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक्स के रूप में  या होम डिलीवरी के काम करने के लिए स्वयं को पंजीकृत कर सकते हैं। लोगो को सोशल डिस्टेन्स तथा जागरूकता फैलाने के लिए भी मदद कर सकते हैं। इस पोर्टल पर झूठे स्वयंसेवकों की रिपोर्ट भी कर सकता है। पोर्टल का उद्देश्य पंजीकृत किरयाना, दूध, और केमिस्ट की दुकानों का एक नेटवर्क बनाना है और पोर्टल पर पंजीकृत स्वयंसेवकों को प्रदान किए जाने का विकल्प प्रदान करता है। दुकान-मालिकों को उनके द्वारा बेची जाने वाली वस्तुओं की प्रकृति यानी दूध, अंडे, किराने का सामान, सब्जियां, आलू / प्याज, पैकेज्ड खाद्य पदार्थ, ब्रेड, मेडिसिन और टॉयलेटरीज़ आदि के आधार पर पंजीकृत किया जाता है। पोर्टल उपयोगकर्ताओं को दुकान मालिकों या स्वयंसेवकों के रूप में पंजीकृत होने के लिए एक इंटरैक्टिव इंटरफ़ेस प्रदान करता है। दुकान के मालिक यह भी सूचित कर सकते हैं कि होम डिलीवरी और ई-भुगतान की सुविधा उनके व्यावसायिक प्रतिष्ठान द्वारा दी गई है या नहीं।

        अब तक पोर्टल पर कुल 48,598 दुकानें पंजीकृत हुई हैं। इनमें 15,332 मिल्क, ब्रेड और एग-शॉप्स, 8,719 वेजिटेबल शॉप्स, 15,202 ग्रॉसरी और अन्य आइटम शॉप्स, 5861, पैक्ड फूड आइटम शॉप्स आदि की और 3484 केमिस्ट्स ने रजिस्टर किया है। इनके अलावा, पोर्टल पर अब तक कुल 65720 स्वयंसेवकों ने , जिनमें 920 डॉक्टरों, 841 नर्सों, 2155 पैरामेडिक्स, 11640 होम डिलीवरी वालंटियर्स, 11326 सोशल डिस्टेंस कम्युनिकेशन वालंटियर्स, 14149 पब्लिक कम्युनिकेशन, 11424 जिला प्रबंधन वालंटियर्स तथा 13253 अन्य वालंटियर ने पंजीकरण कराया है।

        इस पोर्टल के माध्यम से हरियाणा सरकार का उद्देश्य विभिन्न श्रेणियों के स्वयंसेवकों के एक डेटाबेस को मजबूत करना है ताकि उनकी सेवाओं का उपयोग कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में किया जा सके और नागरिक भागीदारी को प्रोत्साहित किया जा सके।

Post a Comment

0 Comments

 विश्व के लिए खतरा है चीन