भेज रहा है चायना रद्दी माल - आर के रस्तोगी


भेज रहा है चायना रद्दी माल

आर के रस्तोगी

घर में अपने आप को  बंद किये हुए है
बिन ताले के अपने को बंद किये हुए है

लगता नहीं दिल अब अपने घर में
मन में अनेको प्रश्न द्व्न्द किये हुए है

खालीपन में कविता बाजी करते रहते
जो रस अलंकार छंद लिए हुए है

नर्स डॉक्टर जो घर से बनवास हुए है
फल फूल और कंद पर उपवास हुए है

जो  राजनीति में सक्रिय  हुए है
वे कितने घोटालो में बंद  हुए है

जो नेता करते थे खाली बयानबाजी
अब उनके क्यों मुँह बंद हुए है

कब खुलेगा ये लॉक डाउन भैया
ये सबके मन में प्रश्न उठे हए है

पड़ रहे है रोजी रोटी के लाले
क्योकि सारे उद्योग बंद हुए है

भेज रहा है चायना रद्दी माल
अब उसके सब व्यापार हुए है

आर के रस्तोगी
गुरुग्राम

Post a Comment

0 Comments

लद्दाख में बढ़ती चीन की सेनाएं : हर छलछंद और जयचंद पर नजर रख आगे बढ़ने की आवश्यकता है