मोदी जी का कोरोना सक्रमण भगाओं संघर्ष नये रूप में


प्रधानमंत्री के महामारी भगाने तथा देश को संगठित करने में सहयोग करना सबका कर्तव्य


मनमोहन कुमार आर्य


देश इस समय अभूतपूर्व कठिन दौर से गुजर रहा है। देश में कोरोना महामारी का आतंक छाया हुआ है जिससे देश की शासन व्यवस्था तथा हमारे चिकित्सा से जुड़े चिकित्सक व नर्सों सहित हमारी पुलिस एवं अनेक लोग संघर्ष कर रहे हैं। सारा देश प्रधानमंत्री व शासन का साथ दे रहा है। कुछ भ्रमित लोग नाना प्रकार के दुष्टता के अनुचित काम भी कर रहे हैं।

इस स्थिति में वह अपने स्वार्थों से ऊपर उठ नहीं पा रहे हैं। मोदी जी की प्रेरणा व अनुरोध पर देश में पहले जनता कफ्र्य का पालन किया था। यह कफ्र्यू सफल रहा था। विदेश के शासनाध्यक्षों तक ने इसकी प्रशंसा की थी। समय समय मोदी जी देश की जनता से संवाद भी करते रहते हैं। वह ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं जो देश की जनता व उनके हृदयों से जुड़े हुए हैं। मोदी जी ने एक और प्रेरणा सहित अनुरोध किया है। वह यह है कि 5 अप्रैल, 2020 की रात्रि 9.00 बजे अपने घरों की लाइटें पूरी तरह से बन्द कर दें। इसके स्थान पर 9 मिनट तक सब अपने घरों में घी या तेल के दिये जलायें। दीपक जलाने के साथ मोमबत्ती, टार्च आदि भी जला कर प्रकाश किया जा सकता है।

यह कार्य कोरोना के अन्धकार को दूर करने के लिये किया जा रहा है। सरसों के तेल और घी के जलाने से हानिकारक किटाणुओं का नाश होता है। यह जलते हुए दीपक रोगकारक किटाणुओं के नाश का सन्देश देश में फैलायेंगे। हमें लगता है कि मोदी जी का यह सुझाव देश को संगठित व बलशाली बनाने का एक प्रयत्न है। इससे देश विरोधी उन लोगों को थोड़ी सी सद्बुद्धि मिल सकती है जो किन्हीं स्वार्थों के कारण मोदी जी के हर अच्छे व श्रेष्ठ कार्यों का विरोध करते हैं। देश का सौभाग्य है कि देश में श्री नरेन्द्र मोदी जैसा ज्ञानी, अनुभवी, देशभक्त तथा निर्धन परिवार में जन्मा प्रधानमंत्री है जो देश के गरीबों की समस्याओं से परिचित है तथा इसके साथ राम, कृष्ण, वैदिक ऋषियों व सच्चे महापुरुषों को भी मानता है। वह ऋषि दयानन्द की जन्मभूमि टंकारा भी गये हैं। आर्यवन-रोजड़ जाकर उन्होंने आर्यसमाज के तपस्वी सन्त ऋषिभक्त स्वामी सत्पति जी महाराज के दर्शन भी किये हैं।

उन्होंने गुजरात के राज्यपाल आचार्य डा. देवव्रत जी को ऋषिजन्म भूमि टंकारा को विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल के रूप मे विकसित करने का परामर्श भी दिया है। इस दिशा में प्रारम्भिक कार्य आरम्भ हो गया है, ऐसी हम आशा करते हैं। अतः आर्यसमाज के अनुयायियों को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का मन, वचन व कर्म से सहयोग करना चाहिये। हमारे जो भी मतभेद हों, उन्हें हम आपस में मिलकर सुलज्ञा सकते हैं। यह हमारा घरेलू मामला है। हम अनुभव करते हैं आर्यसमाज उनके नेतृत्व में ही औरों से कहीं अधिक फल-फूल सकता है। हम समझते हैं कि आर्यसमाज के अधिकांश नेता व विद्वान हमारे विचारों से सहमत होंगे।

देश में कोरोना को नष्ट करने के लिये सभी स्तरों पर लड़ाई चल रही है। इस युद्ध में प्रत्येक देशभक्ति व सद्भावनाओं वाले देशवासियों का पूरा योगदान है। इनके भरोसे ही मोदी जी देश को आगे बढ़ा रहे हैं। आज देश को विश्व में जो सम्मान प्राप्त है वह मोदी जी के नेतृत्व से पूर्व कभी प्राप्त नहीं रहा। अमेरिका, चीन, रूस, फ्रांस, जर्मनी, इजराइल, इंग्लैण्ड तथा यूरोप के अनेक देश मोदी जी को सम्मान देते हैं। यूएनओ में भी मोदी जी का प्रभाव है और उन्होंने वहां भी अनेक देशहित के कार्यों को करने में सफलता प्राप्त की है। उन्हीं के कारण आज योग दिवस विश्व स्तर पर मनाया जाता है। उनके कारण ही आज जम्मू व कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बना है। पाकिस्तान के हमारे भाईयों जो वहां धर्म के आधार पर अत्याचारों से पीड़ित रहे हैं, उनको भारत की नागरिकता देने का भी अभूतपूर्व कार्य हो रहा है। दूसरे नेता तो यदा कदा दबी जबान में विवशता वश जो बातें कहते थे, मोदी जी ने उन्हें साकार कर दिया। अयोध्या विवाद शताब्दियों से चल रहा था। लाखों हिन्दुओं ने उसके लिये बलिदान दिये। हमारे राजनेताओं ने हमारे साधु-सन्तों की हत्यायें कराईं। ऐसी स्थिति मतें किसी को दो तीन वर्ष पहले तक यह आशा भी नहीं थी कि इस विवाद का हल हो सकता है और अयोध्या में राम जन्म भूमि स्थान पर भव्य मन्दिर बन सकता है।

मोदी जी ने यह करिश्मा कर दिखाया और अयोध्या में भव्य एवं विशाल राम मन्दिर बनने का कार्य सम्पन्न होने की ओर अग्रसर है। इसके लिये भी मोदी जी सहित हमारी न्याय प्रणाली व अयोध्या मामले का निर्णय करने वाले मुख्य न्यायाधीश महोदय बधाई के पात्र हैं। मोदी जी ने देश का प्रधानमंत्री बनने के बाद गरीबों व किसानों का भी ध्यान रखा है। जनधन खाते खुलवाने, उज्जवला योजना, सब गरीबों को पक्के, बिजली, पानी व शौचालयो ंसे युक्त निवास प्रदान करने का आश्वासन देकर तथा उसे लागू करके अभूतपूर्व एवं प्रशंसनीय कार्य किया है। मोदी जी की बहुत बड़ी उपलब्धि यह भी है कि उन्होंने उच्च स्तर के भ्रष्टाचार को दूर किया है। आधार कार्ड को बैंक एकाउण्ट आदि से जोड़कर भी उन्होंने देश से भ्रष्टाचार दूर करने में बड़ी सफलता प्राप्त की है। नोट बन्दी का काम भी उनका अभूत काम था।

 गुजरात में नर्मदा के तट पर विश्व की सबसे ऊंची 182 मीटर की सरदार पटेल की प्रतिमा बनाकर तथा इस स्थान को एक भव्य पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करके भी उन्होंने अपनी अद्भुत निर्णय एवं कार्य क्षमता का लोहा मनवाया है। पाकिस्तान में दो बार सर्जिकल स्टाइक करके व उसका दया के आधार पर दिया जा रहा पानी बन्द करके भी उन्होंने अपनी कठिन विषयों में निर्णय लेने की क्षमता को प्रकट किया है। इन सब कार्यों ने श्री नरेन्द्र मोदी जी को देश का अभूतपूर्व योग्यतम प्रधानमंत्री सिद्ध किया है। अतः हमारा कर्तव्य बनता है कि हम मोदी जी के हर कार्य में सहयोग करें तथा उनके दिशानिर्देशों को अपना कर्तव्य समझे। 

आज 5 अप्रैल, 2020 को रात्रि 9 बजे हमें 9 मिनट तक अपने घरों में लाइट बन्द कर अंधकार रखना है। इस अवधि में घरों में घी व तेल के दीपक जलाने हैं। अन्य कुछ प्रकाश के उपकरणों से भी वैकल्पिक प्रकाश उत्पन्न किया जा सकता है। ऐसा करके हम देश से अपनी देशी पद्धति से कुछ समय के लिये अन्धकार को दूर करेंगे। इससे हमारा अनुशासन व एकता का परिचय मिलेगा। इस बीच हमें देश की एकता और अखण्डता सहित कोरोना रोग से मुक्ति के लिये ईश्वर से प्रार्थना भी करनी है। आज के आयोजन से यह दिन देश के इतिहास में अभूतपूर्व दिन सिद्ध होगा। जो लोग मोदी जी के अनुरोध का पालन करेंगे वह प्रशंसा के पात्र हैं। उन्हें साधुवाद है। इस अवसर पर ईश्वर का भी धन्यवाद करते हैं जिसके कारण हमारे देश को एक सुयोग्य प्रधानमंत्री सुलभ है।

हम आशा करते हैं कि मोदी जी के नेतृत्व में देश कोरोना महामारी पर शीघ्र ही विजय प्राप्त कर लेना और देश पुनः इस रोग से पूर्व की स्थिति में आ जायेगा। अर्थव्यवस्था भी शीघ्र की सामान्य हो जायेगी। देश संगठित होगा। आततायियों का बल नष्ट होगा। साधु पुरुषों के बल में वृद्धि होगी। देश में ज्ञान व विज्ञान का प्रसार होगा। देश में अज्ञान, अन्धविश्वास, अविद्यायुक्त मत-मतान्तर दूर होंगे। समाज में सब परस्पर समानता के आधार पर अपना जीवन व्यतीत करेंगे। दुष्ट कर्म करने वालों को कठोर दण्ड मिलेगा। सब दुष्ट आशायें निष्फल होंगी। भारत विश्व की शक्ति बनेगा जिसको कोई तिरछी नजर से नहीं देख पायेगा। इजराइल, अमेरिका, रूस, फ्रांस, जर्मनी, इंग्लैण्ड आदि देशों से हमारे मैत्री सम्बन्ध और गहरे होंगे। ऐसी कामना हम करते हैं। ओ३म् शम्।  

मनमोहन कुमार आर्य

Post a Comment

0 Comments

 विश्व के लिए खतरा है चीन