एक वक़्त ही तो है जो गुज़र जाता है

एक वक़्त ही तो है जो गुज़र जाता है


मजूं रहेजा

एक वक़्त ही तो है जो गुज़र जाता है
बाक़ी सब तो छूट ही जाता है,
तेरे मेरे बीच की दूरी,
सब मिलकर हँसना खेलना,
घर बैठकर देखो तो सही ,
फिर मुलाक़ात हो ही जाएगी,
एक वक़्त ही तो है जो गुज़र जाता है,
बाक़ी सब तो छूट ही जाता है,

पांनी ठहर ही गया तो,
वक़्त आने पर बह ही जाएगा,
सही सलामत हैं घर पे तो,
मुस्कराने के मौके भी आएंगे,
एक वक़्त ही तो है जो गुज़र जाता है
बाक़ी सब तो छूट ही जाता है,

ये जो कोरोना के वक़्त का सुरूर है,
तेरी आँधी की ताक़त ज़रूर है,
दो बूँद बारिश से देखे तो ,
कितना टूटता तेरा गुरूर है,
एक वक़्त ही तो है जो गुज़र जाता है
बाक़ी सब तो छूट ही जाता है,

मजूं रहेजा
करनाल

Post a Comment

0 Comments

 विश्व के लिए खतरा है चीन