दुबई से लौटी दंपति से दस + कोरोना , दहशत में मोरेना



कोरोना कहर से डरी चंबल

आनंद जोनवार

मुरैना। मध्यप्रदेश में तेजी के साथ फैल रहे कोरोना वायरस का असर अब चंबल में  देखने को मिल रहा है। जिससे लोगों में दहशत का माहौल है। जिससे डरकर लोग घरों में कैद है। ऐसे में  सख्त रवैया अपनाते हुए प्रशासन व स्वास्थय विभाग तेजी से कार्य कर रहे हैं। वहीं पूरे मध्यप्रदेश में अब कोरोना पॉजिटिव की संख्या 158 हो गई है।  जिसमें से 11 की मौत हो चुकी है । मुरैना जिले में गुरुवार  को  दुबई से लौटे पति-पत्नी दोनों ही कोरोना पॉजीटिव पाए गए। कल दस और लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है ।सभी दंपति के रिश्तेदार है । इसी के साथ अब मोरेना में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 12 हो गई है ।

ये सभी दस लोग  मोरेना की  तहसील सबलगढ़ के खेरला गांव है ।जो  दंपति के यहाँ मां की बरसी में 22 मार्च को  आये थे  ।खेरला भी  हज़ार आबादी  वाला गांव है ।ऐसे में पूरे गांव में पुलिस के साय में सन्नाटा पसरा हुआ है । जगह जगह बेरिकेड्स लगा दिए गए है।

दंपति  17 मार्च को दुबई से वापस अपने घर लौटी थी । जिसे 31 मार्च को आरएमओ की सर्तकता से पति-पत्नी का परीक्षण कर अस्पताल में आईसोलेट किया था। बताया जा रहा है कि दोनों के 16 रिश्तेदार परिजनों को भी  क्वारेनटाइन में दाखिल किया गया है। वहीं जैसे ही यह दोनों कोरोना पॉजिटिव मिले वैसे ही प्रशासन ने नगर निगम के वार्ड क्रमांक 45 को पूर्ण  बंद  कर दिया ।जिसमें यह पति पत्नी  निवास करते है । प्रेमनगर में जिस गली में दुबई से लौटा युवक रहता है, उसके कोरोना संदिग्ध होने की खबर फैलते ही पूरे इलाके में सन्नाटा पसर गया है

वहीं कई घरों के बाहर ताले लटके हुए है। लोग घरों को छोड़कर गांवों की ओर पलायन कर गए हैं आमपुरा में भी कोविड-19 के  लक्षण का एक संदिग्ध बताया जा रहा है जहाँ दंपति की पत्नी का मायका है ।जहां पर  दंपति लोकल  डॉक्टर को  उसके घर दिखाने गई थी ।इससे इस   कॉलोनी को एहतियात के तौर पर सील कर दिया है ।वहीं  शुरू में जब इस   दंपति  की तबियत खराब थी तब महाराज पूरा रोड पर स्थित आरएमपी डॉक्टर को दिखाया था ।हाल -फिलहाल इन डॉक्टर्स  के घरो को  पुलिस की कड़ी निगरानी में आइसोलेट पर रखा है ।डॉक्टर्स को क्वारेंटाइन में रखकर रिपोर्ट का इंतज़ार है। पुलिस प्रशासन व स्वास्थ्य टीम पॉजिटिव कांटेक्ट हिस्ट्री लेने  में तेजी के साथ साथ सतर्कता से काम कर रही है । 

आनंद जोनवार


Post a Comment

0 Comments

कुछ तो हो