सौंदर्य बढाएं...हर्बल उपाय

सौंदर्य बढाएं...हर्बल उपाय
सौंदर्य बढाएं...हर्बल उपाय

✍️ प्रीति शर्मा "असीम "



सुंदरता हमारी आंखों को आकर्षित करती है। सुंदरता की कोई विशेष परिभाषा नहीं है , जिसे देखने को दिल करे और  बार -बार उसे देखने को दिल करे, सुंदरता कहलाती है ।
सुंदरता का कोई मापदंड नहीं है। हां सुंदरता के मायने समय के साथ -साथ बदलते जा रहे हैं। सौंदर्य अब केवल महिलाओं तक सीमित नहीं रह गया है। आज बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक भी सुंदर दिखने और उस सुंदरता को बनाए रखने के लिए प्रयासरत हैं ।

छोटे से छोटे बच्चे को भी अच्छे से तैयार होकर लगता है कि वह कितना सुंदर लग रहा है। अब सुंदरता किसी विशेष अवसर या त्यौहार तक सीमित नहीं रह गया है ।अब  यह हमारे व्यक्तित्व का अंग बन गया है ।अगर देखा जाए तो ईश्वर ने हर चीज को बहुत सुंदर बनाया है।उसे बहुत सुंदर सजाया है। यदि समय निकालकर हम अपना  थोड़ा -सा ख्याल कर कर लें तो सभी बहुत सुंदर दिखेंगे । हमें किसी भी बनावटी सुंदरता की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

सुंदरता के विषय में कहा गया है जो प्रत्येक क्षण नया -नया दिखे। सुंदरता में सर्वप्रथम आता है चेहरा, सर्वप्रथम ध्यान चेहरे की त्वचा पर ही पड़ता है यदि स्वास्थ्य अच्छा हो तो सीधा प्रभाव आपके चेहरे की त्वचा पर पड़ता है यदि आप चाहती हैं कि त्वचा  सुंदर बनी रहे तो आपको ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करना चाहिए ।रस भरे फलों को खाना चाहिए। साथ ही दुख ,चिंता ,निराशा से दूर रहे। इसका काफी प्रभाव आपकी सुंदरता पर पड़ेगा। सुंदरता का आधार बनावटी  प्रसाधन ना होकर घरेलू उपाय कारागार तथा हानि रहित होते हैं। इसलिए ज्यादा से ज्यादा घरेलू उपाय का प्रयोग करना चाहिए। कैमोमाइल,लैवेन्डर,मेलिसा के तेलों से त्वचा की मालिश करनी चाहिए।

ककड़ी की फांक दूध में मिलाकर उसे चेहरे पर लगाने से यह एक कुदरती ढंग से चेहरे को साफ कर सकती है। आलू का ताजा जूस निकालकर उसे दही में मिलाकर भी एक अच्छा क्लीन्जर तैयार हो जाता है। इसके अलावा आप खीरे, चंदन, पुदीने ,नींबू, गाजर के रस को स्किन टॉनिक के रूप में प्रयोग कर सकते हैं। यह चेहरे पर अत्यधिक निखार लाएगा और कुदरती चमक देगा।  जौ के आटे में सिरका मिलाकर आप इस का चेहरे पर मास्क लगा सकते है।  चेहरे की नमी को बरकरार रखने के लिए नारियल तेल ,बदाम रोगन बहुत बढ़िया है।जिस सौंदर्य के खजाने को हम महंगे कॉस्मेटिक्स में ढूंढते हैं, वह खजाना हमारे रसोईघर में ही छुपा होता है। हम सभी के रसोईघर में कई ऐसे मसाले, सब्जियां और फल होते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ सौंदर्य की दृष्टि से भी लाभकारी होते हैं। बस जरूरत है तो अपने सौंदर्य के लिए गुणकारी उन चीजों को पहचानने की। 

 टमाटर जोकि घर में आम पाया जाता है ।एक टमाटर को पीसकर उसका गुदा एक कटोरी में निकाले। अब इसमें एक छोटा चम्मच शहद मिलाकर दोनों को अच्छे से मिक्स करें। यह पैक आपकी त्वचा की कुदरती चमक को बखूबी निखारता है। शहद भी घर में होता ही है।
एक चम्मच शहद, एक चम्मच ग्लिसरीन तथा दो चम्मच नींबू का रस लेकर इन तीनों चीजों को एक कटोरी में एकसाथ मिलाएं। यह चीजें हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे चेहरे की त्वचा को पोषित करती है।बहुत पुराने समय से ही नेचुरल और हर्बल ब्यूटी टिप्स की जानकारी से बिना व्यय किये ही अपने सौन्दर्य में निखार पा लिया जाता था। जैसे फल व सब्जी या अन्य आसानी से उपलब्ध होने वाली चीजे |

वास्तव में सौन्दर्य के यह प्राकृतिक साधन चेहरे की सुन्दरता के सबसे बड़े साथी हैं। यह इच्छा तो सभी की होती है कि वह आजीवन युवा, स्वस्थ और सुंदर बना रहे, लेकिन इस स्वाभाविक प्रक्रिया को पूरी तरह कोई भी रोक नहीं सकता। हां, यह जरूर है कि वैज्ञानिकों ने ऐसे पोषक पदार्थों और चिकित्सा उपायों का पता लगाया है, जिनसे बढ़ती उम्र के असर को बहुत हद तक कम किया जा सकता है। इन सौंदर्य विशेषज्ञों का दावा है कि खान-पान और रहन-सहन में बदलाव लाकर हम उम्र बढने पर भी जवान और आकर्षक रह सकते हैं। ये फल सब्जियां मनुष्य के लिए एक तरह से प्राकृतिक वरदान हैं।

 श्रृंगार करने से आधा घण्टा पहले इसे त्वचा पर नियमित क्रीम की तरह लगायें और फिर थोड़ी देर बाद गुनगुने पानी से धो लें। एक केले का लेप सताह भर के लिए काफी होता है।यदि आपके चेहरे की त्वचा तैलीय है, तो एक सेब का छिलका उतार कर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और चेहरे पर लेप की तरह लगायें, आधा घण्टा सूखने दें फिर धो लें। सेब त्वचा को कसा हुआ रखता है।अनाकर्षक त्वचा के लिए संतरे के छिलके का उपयोग करके एक बेहतरीन लोशन बनाया जा सकता है अनाकर्षक त्वचा के लिए यह एक लाभदायक लोशन है और इससे त्वचा मखमल-सी कोमल हो जाती है।

लू से त्वचा की रक्षा के लिए  गरमियों में लू लगने के कारण शरीर की उपरी त्वचा यदि झुलस जाये, तो तरबूज के छोटे-छोटे टुकड़े त्वचा पर रगड़िए। यह त्वचा की सारी गरमी सोख लेते हैं।त्वचा पर से श्रृंगार साफ करने के लिए रसभरियाँ सर्वोत्तम क्लीजिंग पदार्थ हैं। रसभरी छील कर त्वचा रगड़ने से दिन भर का मेकअप और धूल साफ हो जाती है। सुबह-शाम इस मिश्रण को प्रयोग में लाने से त्वचा स्निग्ध हो उठती है।उमस भरी गर्मी से त्वचा को राहत देने के लिए एक बड़ा चम्मच मुल्तानी मिश्रण बनाकर पेस्ट बना लें। इसे चेहरे पर 20 मिनट रखकर ठंडे पानी से धो लें। गर्मियों में चेहरे की देखभाल के लिए सर्दी के दिनों में बादाम रोगन में कुछ बूंदें नींबू की मिलाकर चेहरे पर लगायें। यह रंग को निखार कर चमकदार बनाता है।कील मुंहासे दूर करने के लिए  नीम की पत्ती उबालकर छान लें। ठंडा हो जाने पर उसमें 3-4 बूंद कागजी नींबू का रस, थोड़ा-सा चन्दन का पाउडर और मुल्तानी मिट्टी मिला दें।नींबू का छिलका चेहरे पर रगड़ते रहने से उसमें मौजूद रस के कारण चेहरे पर निखार आ जाता है।

बीमारी के कारण गला, चेहरा काला पड़ जाये तो वह भी धीरे-धीरे ठीक हो जाता है।खीरे का रस एक चम्मच, गाजर का रस चम्मच, ताजा दूध एक चम्मच मिलाकर मिश्रण को चेहरे पर लगाते रहने से चेहरे की झाइयां समाप्त हो जाती है ।चने की दाल को रात में दूध में भिगो दें। सुबह सिल पर बारीक पीसकर थोड़ी-सी हल्दी, एक चम्मच दूध की मलाई और कुछ बूंदें गुलाबजल की मिला दें। यह उबटन सांवली त्वचा को निखारने के लिए कारगर उपचार है।रंगत निखारने के लिए संतरों के छिलकों को छाया में सुखाकर बारीक चूर्ण बना लें। इस चूर्ण में से एक चम्मच लेकर उसमें एक चम्मच बेसन, थोड़ी-सी हल्दी, एक चम्मच दूध व कुछ बूंदें नींबू के रस की मिला दें। चेहरे व गले आदि पर यह उबटन लगाएं। त्वचा निखर उठेगी।नाखूनों की चमक के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स जैसे नाखूनों की चमक व सुंदरता के लिए उन पर नियमित जैतून का तेल मलें। गर्दन के सौंदर्य को निखारने के लिए स्नान से दस मिनट पूर्व पपीते का पेस्ट मलें।

बालों में खुश्की होने पर नींबू का रस मलने से कुछ ही दिनों में समस्या दूर हो जाती है।खीरे के टुकड़े को जैतून के तेल में मसलकर चेहरे पर मलने से त्वचा निखरती है।मक्खन में केसर मिलाकर होंठों पर मलने से लालिमा आती है।प्रदूषित वातावरण कई विकृतियों को जन्म दे रहा है। बालों का गिरना, रूसी होना, बालों का असमय सफेद होना, मुंह पर झाइयां, मुहांसे तथा आंखों के नीचे काले गड्ढे पड़ना, अब आम समस्याएं हो चली हैं। मुल्तानी मिट्टी व रीठे से बालों की सुंदरता तो बढ़ती ही है साथ ही उन्हें पौष्टिक तत्व भी मिलते हैं।नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर नहाने के पानी में मिला दें। इससे चेचक के दाग, खुजली, घमौरी आदि दूर हो जाते हैं।  नीम के बेहतरीन औषधीय गुण-सौन्दर्य के लिए |आँखों की थकावट कम करने के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स- चाय की उबली पत्तियों को बर्फ के चूरे के साथ मिलाकर कपड़ों में लपेटकर दोनों आंखों पर रख लें, इससे थकान दूर हो जाएगी, साथ ही आंखें भी चमकीली आभा से दमक उठेगी |प्रतिदिन शहद को चेहरे और बदन पर मलकर आध-पौन घण्टे के बाद साफ पानी से नहाने से सौंदर्य बरकरार रहता है।

 यदि समय निकालकर हम अपना  थोड़ा -सा ख्याल कर कर ले तो सभी बहुत सुंदर दिखेंगे। हमें किसी भी बनावटी सुंदरता की आवश्यकता नहीं पड़ेगी । 

 लेखिका
✍️ प्रीति शर्मा "असीम "
नालागढ़ हिमाचल प्रदेश

Post a Comment

0 Comments

कुछ तो हो