अनन्तराम चौबे 'अनन्त' की कविता - शहीद भगतसिंह



शहीद भगतसिंह


अनन्तराम चौबे 'अनन्त'


आजादी पाने अमर सपूतों ने
अपने प्राणों की बाजी लगाई थी ।
शहीद भगतसिंह उनमें से एक थे
अंग्रेजों से लड़ी लड़ाई थी ।

28 सितम्बर 1907 को बावली
लायलपुर पंजाब में जन्म हुआ था 
आन्दोलन के स्वतंत्रता सेनानी थे
देश को स्वतंत्र कराने का जज्बा था ।

भगतसिंह, सुखदेव, राजगुरू ये
तीनों देश के वीर शहीद योद्धा थे ।
सेन्ट्रल हाल असेम्बली में इन्होने
बम फेंक कर विस्फोट किए थे ।

देश के क्रांतिकारी इन वीरों ने
अंग्रेजों को भी ललकारा था ।
चन्द्रशेखर आजाद के साथ में
क्रांति का बिगुल बजाया था ।

स्वतंत्रता संग्राम आन्दोलन में
मिलकर भागीदारी की थी ।
छोटी सी उम्र में इन वीरों ने
अपनी जान की बाजी लगाई थी ।

एक वर्ष लाहौर जेल में 
तीनों को बंदी बनाये थे ।
31 मार्च 1931 को तीनों 
को फांसी पर लटकाये थे ।

शत शत नमन वंदन करते हैं
इन वीर शहीदों शीश नवाते हैं ।
आजादी के इन योद्धाओं को
हम श्रद्धांजली अर्पित करते हैं ।
   

अनन्तराम चौबे 'अनन्त'
जबलपुर (म. प्र.)
      2408/9770499027

Post a Comment

0 Comments

लद्दाख में बढ़ती चीन की सेनाएं : हर छलछंद और जयचंद पर नजर रख आगे बढ़ने की आवश्यकता है